होम लोन ईएमआई कैलकुलेटर

|
1L
|
50L
|
1Cr
|
1.5Cr
|
2Cr
Years
|
1Y
|
5Y
|
10Y
|
15Y
|
20Y
|
25Y
|
30Y
%
|
5%
|
10%
|
15%
|
20%
|
25%

ईएमआई
18250

मूल राशि 100000

देय ब्याज राशि 18250

अभी आवेदन करें

अगर आप घर खरीदने की योजना बना रहे हैं, तो यह तय करना भी महत्वपूर्ण होगा कि कितना लोन लेना ज़रूरी है। इसके साथ ही यह जानना भी बेहद ज़रूरी है कि ईएमआई की राशि कितनी होगी और आपकी मौजूदा आमदनी के हिसाब से क्या आप यह राशि हर महीने आसानी से चुका पाएंगे। ऊपर दिए गए IIFL होम लोन ईएमआई कैलकुलेटर का इस्तेमाल कर आप अपनी ईएमआई का अनुमान लगा सकते हैं।

IIFL होम लोन के साथ कम ईएमआई, आकर्षक ब्याज दरें और लोन चुकाने के लिए 30 साल की अवधि मिलती है। इसकी मदद से आप अपने सपनों का घर काफी जल्दी खरीद सकेंगे और आसानी से अपना लोन भी चुका सकेंगे।

अगर आपने पहले से किसी अन्य बैंक या एनबीएफसी (वित्तीय संस्थान) से लोन लिया हुआ है और उनकी सेवाओं से खुश नहीं हैं या अपने ईएमआई के बोझ को घटाना चाहते हैं, तो बैलेंस ट्रांसफर के लिए आवेदन कर सकते हैं। इससे आपके पैसों की भी बचत होगी।

“होम लोन ईएमआई क्या है?”
लोन लेने वाले व्यक्ति को हर महीने एक निश्चित राशि, एक निश्चित तिथि पर चुकानी होती है। यह राशि उसके द्वारा लिए गए होम लोन के भुगतान के रूप में चुकाई जाती है। ईएमआई का मतलब होता है इक्वेटेड मंथली इंस्टॉलमेंट यानि समान मासिक किश्त।

ईएमआई = मूल राशि + मूल पर ब्याज की राशि। इसका भुगतान बैंक को दिए गए ऑटो डेबिट निर्देशों या पोस्ट डेटेड चेक्स के माध्यम से किया जाता है।

“होम लोन की ईएमआई कैसे कैलकुलेट की जाती है?”
आपको यह जानकारी रखनी ज़रूरी है कि अपने ऋणदाता को हर महीने समान मासिक किश्त यानि ईएमआई के रूप में कितना भुगतान कर रहे हैं। आपकी ईएमआई, मूल राशि, ब्याज दर, लोन की अवधि और गणना करने के तरीके के हिसाब से तय होगी।

ईएमआई की गणना का फॉर्मूला है:
emi-calculation

इस फॉर्मूला में ई का मतलब है ईएमआई, पी का मतलब है प्रिंसिपल यानि मूल राशि और आर का मतलब है रेट ऑफ इंट्रेस्ट यानि मासिक ब्याज दर। मासिक भुगतान की राशि अंत तक उतनी ही रहती है लेकिन समय गुज़रने के साथ उसमें ब्याज का हिस्सा कम होता जाता है और मूल राशि का हिस्सा बढ़ता जाता है।

हालांकि, यह समझने के लिए कि आप कितनी ईएमआई देंगे सबसे पहले आपको यह जानने की ज़रूरत है कि आप कितना लोन ले सकते हैं। लोन के लिए अपनी पात्रता जांचने के लिए आपको कुछ सामान्य निजी जानकारी देनी होती है। जैसे पैन कार्ड नंबर, जन्म की तारीख और पेशे से जुड़ा विवरण जैसे कंपनी का नाम, आय की स्थिति और पेशे का कार्यकाल। यह चीजें आपकी ब्याज दर को प्रभावित करती हैं। समय पर किश्त के भुगतान के लिए आपको पहले से ईएमआई की सही गणना करनी होगी। ईएमआई से आपको यह आकलन करने में मदद मिलती है कि लोन किफायती है या नहीं।

लोन के लिए पात्रता जानिये
उदाहरण-
अभिजीत के पास पांच साल का पेशेवर अनुभव है और वह 70,000 रुपये महीना कमाते हैं। वो एक 50,00,000 रुपये की संपत्ति खरीदना चाहते हैं। उनके वेतन के हिसाब से उन्हें कितना होम लोन मिल सकता है? उनकी ईएमआई क्या होगी?

वह लगभग 42,50,000/- रुपये की होम लोन राशि पाने के पात्र हैं। उनकी ईएमआई लगभग 40,033 रुपये से शुरू होगी और 20 साल तक चलेगी।


 

May I Help You

Submit