आईआईएफएल बॉन्ड्स के साथ निवेश पर 10.50% रिटर्न पाने का शानदार मौका

Jan 23, 2019 7:45 IST 11116 views

रीटेल निवेशकों के लिए एक शानदार मौका है जो अपने डेट निवेश पर अधिक रिटर्न कमाना चाहते हैं। आईआईएफएल के नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर (NCD) के पब्लिक इश्यू में निवेश करते हुए उन्हें 10.50% प्रतिवर्ष तक रिटर्न मिल सकता है। रिटर्न की यह दर एक ऐसे माहौल में काफी आकर्षक है जब मार्केट-लिंक्ड सिक्योरिटीज़ से मिलने वाले रिटर्न में अनिश्चितता का माहौल है और फिक्स्ड डिपॉज़िट का रिटर्न अब भी 6-7% के आसपास ही है। 
निश्चित आमदनी वाले निवेशकों को कम रिटर्न मिलता है, ऐसे में आईआईएफएल द्वारा अपने बॉन्ड्स पर सर्वाधिक मुनाफे की पेशकश से ऐसे निवेशकों के लिए अच्छे दिन आने जैसा मौका है। आमतौर पर एनसीडी एक्सचेंज पर सूचीबद्ध होते हैं, और इन्हें निर्धारित अवधि के अंतर्गत ट्रेड किया जा सकता है। डीमैट अकाउंट धारक कोई भी निवेशक इसमें निवेश कर सकते हैं। 
आईआईएफएल द्वारा जारी किये जाने वाले एनसीडी बीएसई एवं एनएसई पर सूचीबद्ध होंगे ताकि निवेशकों को लिक्विडिटी मिल सके। निवेशकों के पास 120 माह की अवधि के लिए मासिक एवं वार्षिक भुगतान विकल्प चुनने की सुविधा होगी और यह बॉन्ड्स 39 और 60 माह की अवधि में भी उपलब्ध है। आईआईएफएल बॉन्ड्स संस्थागत श्रेणी में भी 10.35% प्रति वर्ष की दर से उपलब्ध हैं। 
आईआईएफएल ग्रुप की कंपनी आईआईएफएल फाइनेंस, बॉन्ड्स का पब्लिक इश्यू 22 जनवरी 2019 को पेश करेगी और यह पहले आओ पहले पाओ के आधार पर रु. 1000 की फेस वैल्यू और रु. 10,000 की न्यूनतम आवेदन राशि पर सभी श्रेणियों में उपलब्ध होंगे। 
आईआईएफएल द्वारा इन सिक्योर्ड एवं अनसिक्योर्ड रीडीमेबल नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर्स के जरिये 2000 करोड़ रुपये तक जुटाने की योजना है। इस राशि का उपयोग कारोबार के विकास एवं आगे विस्तार में किया जाएगा। इस एनसीडी इश्यू पर बोलते हुए श्री प्रबोध अग्रवाल, आईआईएफएल ग्रुप सीएफओ ने कहा, “इस इश्यू के जरिये जुटाई जाने वाली धनराशि को ऑनवर्ड लेन्डिंग, फाइनेंसिंग और अन्य सामान्य कॉर्पोरेट कार्यों के लिए इस्तेमाल किया जाएगा। आईआईएफएल ग्रुप द्वारा इससे पहले जारी किये गए प्रत्येक बॉन्ड इश्यू ओवर-सब्सक्राइब हुए है और उनका समय पर भुगतान किया गया है।”
आर्थिक सलाहकारों द्वारा ऐसी प्रतिष्ठित कंपनियों के डिबेंचर्स में निवेश की सलाह दी जाती है जिनके पास पर्याप्त नकदी प्रवाह रहे और हाई रेटिंग प्राप्त हों और आईआईएफएल इन सभी शर्तों को पूरा करता है। आईआईएफएल का 23 वर्षों से अधिक का समृद्ध इतिहास रहा है और यह वित्तीय सेवाओं के क्षेत्र में सर्वाधिक प्रतिष्ठित कंपनियों में से एक है। इसकी सब्सिडियरी कंपनी आईआईएफएल फाइनेंस ने सितंबर 30, 2018 को समाप्त हुई छमाही में मज़बूत आर्थिक प्रदर्शन पेश करते हुए रु. 357.2 करोड़ का टैक्स पश्चात मुनाफा और वर्ष दर वर्ष 69% का विकास हासिल करने की घोषणा की है। आईआईएफएल फाइनेंस एक पर्याप्त पूंजी वाली गैर-बैंकिंग फाइनेंस कंपनी है, जिसके पास रु. 4000 करोड़ की संपत्ति है और सितंबर 30, 2018 तक 18.7% का टोटल कैपिटल एडिक्वेसी रेश्यो (CAR) था। इसका टीयर 1 कैपिटल 15.5%, जबकि वैधानिक आवश्यकता क्रमशः 15% और 10% है। इसके अलाला, क्रिसिल ने इस इंस्ट्रूमेंट को एए/स्टेबल रेटिंग प्रदान की है, जिससे इसकी वित्तीय देनदारियों की समय पर पूर्ती हेतु उच्च सुरक्षा और डिफॉल्ट का बेहद कम जोखिम होने का संकेत मिलता है। 

Tags:

May I Help You

Submit