स्मार्ट सिटीज़ : भारत में उभरते शहरीकरण के स्तम्भ

Jul 13, 2018 5:15 IST 2477 views

बीते दो दशक में भारत ने शहरीकरण के नए मुकाम हासिल किये हैं | प्रगतिशील योजनओं ने देश में विकास को छोटे शहरों तक ले जाने में अहम भूमिका निभाई है | भारत में बढ़ते शहरीकरण और विकास को एक नई दिशा देने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2015 में 'स्मार्ट सिटीज़ मिशन' की शुरुआत की |

'स्मार्ट सिटीज़ मिशन' के तहत देश में 100 ऐसे शहरों का चुनाव किया गया है जिन्हें नागरिकों को बेहतर सहूलियतें देने के लक्ष्य से विकसित किया जाएगा | स्मार्ट सिटीज़ मिशन का मुख्य उद्देश्य उन तकनीकों का उपयोग करके शहरों को स्मार्ट बनाना है जो शहर को स्वयं टिकाऊ बनाने, भविष्य के सबूत बनाए रखने और अपने निवासियों को सर्वोत्तम सेवाएं प्रदान करने में मदद करेंगी | यदि एक वाक्य में स्मार्ट शहर का अर्थ निकला जाए तो यह वे शहर होंगे जो नागरिकों को स्मार्ट (बुद्धिमान) शारीरिक, सामाजिक, संस्थागत और आर्थिक आधारभूत संरचना प्रदान करेंगे | स्मार्ट सिटीज़ की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं :

  • कुशल परिवहन
  • ऊर्जा कुशल इमारतें
  • मजबूत डिजिटल कनेक्टिविटी
  • पर्याप्त पानी और बिजली आपूर्ति के साधन
  • ध्वनि प्रशासन
  • किफायती आवास परियोजनाएं

 

चुने गए 100 स्मार्ट शहरों को केंद्र सरकार फंडिंग देगी जिसका इस्तेमाल इन शहरों में सम्मलित और सतत विकास योजनाओं के लिए किया जाएगा | देश की सभी राज्य सरकारों को स्मार्ट सिटीज़ मिशन के तहत अपने- अपने शहरों को नामांकित करने के लिए प्रस्ताव भेजा गया । राज्य सरकारों ने नागरिकों और अन्य निकाइयों के साथ परामर्श कर अपने- अपने शहर को स्मार्ट बनाने हेतु केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजे | केंद्र सरकार ने शहरों के पिछले रिकॉर्ड और भविष्य की क्षमता के आधार पर देश भर में सौ शहरों का चुनाव किया |

स्मार्ट शहरों का चुनाव 4 चरणों में किया गया है | पहले 20 शहरों की घोषणा जनवरी, 2016 को हुई थी | अभी तक देश के 32 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में 100 शहरों को ‘स्मार्ट सिटीज़’ के रूप में विकसित करने की घोषणा की जा चुकी है | भौगोलिक क्षेत्रों के संदर्भ में, तमिलनाडु के 10 शहर, महाराष्ट्र के 8, मध्य प्रदेश और कर्नाटक के 7 -7 और गुजरात के 6 शहर स्मार्ट सिटीज़ योजना में शामिल हैं |

एक अनुमाान के मुताबिक हर महीने लगभग 10 लाख भारतीय ग्रामीण और सेमिनार क्षेत्रों से शहरों में बसने आते हैं | इस कार्यक्रम में देश के 1.25 अरब नागरिकों में से लगभग 10 करोड़ लोगों को प्रभावित करने की क्षमता है | तीन साल पहले लॉन्च किया गया स्मार्ट सिटीज़ मिशन सरकार द्वारा शुरू किये गए हस्ताक्षर कार्यक्रमों में शामिल है । प्रधान मंत्री आवास योजना के साथ स्मार्ट शहरों का उद्देश्य देश में सतत, समावेशी शहरी विकास और आर्थिक विकास को बढ़ावा देना है |

Request a Callback

Submit

May I Help You

Submit